۲۰ مرداد ۱۴۰۱ |۱۳ محرم ۱۴۴۴ | Aug 11, 2022
इस्लामी क्रांति के सर्वोच्च नेता

हौज़ा/ इस्लामी क्रांति के सर्वोच्च नेता, आयतुल्लाह ख़ामेनेई ने यूरोप में इस्लामी संघों के छात्रों के नाम एक संदेश में कहा: इस्लामी क्रांति ने युवाओं की छाती पर अपनी छाप छोड़ी है और यह प्रक्रिया ईरान की इस्लामी क्रांति के सम्मानों में से एक है।

हौज़ा न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट अनुसार, इस्लामी क्रांति के सर्वोच्च नेता, आयतुल्लाह ख़ामेनेई ने यूरोप में इस्लामी संघों के छात्रों के नाम एक संदेश में कहा: इस्लामी क्रांति ने युवाओं की छाती पर अपनी छाप छोड़ी है और यह प्रक्रिया ईरान की इस्लामी क्रांति के सम्मानों में से एक है।

इस्लामी छात्रो के नाम इस संदेश को इस्लामी क्रांति के सर्वोच्च नेता के प्रतिनिधि हुज्जत-उल-इस्लाम वाएज़ी द्वारा एक ऑनलाइन बैठक में प्रस्तुत किया।

सर्वोच्च नेता ने अपने संदेश में कहा: देश की प्रगति और विकास में युवाओं की भूमिका का महत्व अधिक से अधिक प्रमुख होता जा रहा है। कोरोना के सामान्य वबा ने यह भी साबित कर दिया कि अन्य मुद्दों की तरह, सैनिकों ने भी इस वबा से लड़ने में सक्रिय भाग लिया।

आयतुल्लाह ख़ामेनेई ने कहा: युवाओं से अपेक्षा की जाती है कि वे वर्तमान अवसर का पूरा लाभ उठाकर अपने आप को वैज्ञानिक, धार्मिक और नैतिक क्षमताओं से लैस करें और भूमिका निभाने की तैयारी करें और इस संबंध में इस्लामी संगठनों के छात्रों की गंभीर और गर्वपूर्ण ज़िम्मेदारी है।

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
7 + 6 =