۱۶ تیر ۱۴۰۱ |۷ ذیحجهٔ ۱۴۴۳ | Jul 7, 2022
जश्ने इमाम अली

हौज़ा / 13 रजबुल मुरज्जब इमामुल -मुत्तक़ीन हज़रत अली (अ.स.) के जन्म के अवसर पर इमाम रज़ा (अ.स.) की दरगाह (हरम) में एक शानदार जश्न मनाया गया।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, हज़रत अली इब्ने अबी तालिब (अ.स.) की जयंती के अवसर पर इमाम रज़ा (अ.स.) की दरगाह में एक गरिमामय समारोह मनाया गया। जिसमें बड़ी संख्या में आगंतुकों ने भाग लिया।

जश्न का आरम्भ दोपहर की नमाज से एक घंटे पहले हुज्जतुल -इस्लाम  मेहदी शुजा द्वारा पवित्र कुरान की तिलावत से हुआ, उसके बाद वतन-ए-इस्लाम हुज्जतुल इसलाम वल मुसलेमीन सैयद हसन सहपहर ने अमीरुल -मोमिनीन हज़रत अली (अ.स.) के गुणों और विशेषताओ के विषय पर उत्सव के प्रतिभागीयो को संबोधित किया।

उन्होंने कहा: भले ही सभी नदियां स्याही बन जाएं और सभी पेड़ कलम बन जाएं, तब भी कलमातुलल्लाह की विशेषताओं का वर्णन नहीं कर सकते। इमाम मूसा काज़िम (अ.स.) ने एक रिवायत अर्थात (कथन) मे वर्णन किया है कि कलामातुल्लाह का अर्थ अहलेबैत (अ.स.) है।

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
2 + 15 =