۱۱ تیر ۱۴۰۱ |۲ ذیحجهٔ ۱۴۴۳ | Jul 2, 2022
पोप फ्रांसिस

हौज़ा / रोमन कैथोलिक समुदाय के आध्यात्मिक नेता पोप फ्रांसिस ने बगदाद पहुंचने के बाद इराक के प्रधान मंत्री और राष्ट्रपति से मुलाक़ात करके उन्हें संबोधित किया।

होज़ा समाचार एजेंसी के अनुसार, रोमन कैथोलिक ईसाई समुदाय के आध्यात्मिक नेता, पोप फ्रांसिस ने बगदाद आने के बाद इराकी प्रधान मंत्री और राष्ट्रपति से मुलाक़ात करके उन्हे संबोधित किया।

उन्होंने अपने भाषण की शुरुआत में, चर्च के सदस्यों और मुस्लिम प्रतिनिधि को शुभकामनाएं भेजीं और कहा: "हमारा धर्म हमें शांति और एक साथ रहने के लिए आमंत्रित करता है।"

उन्होंने कहा: "मैं एक ऐसे समय में इराक पहुंचा हूं जब दुनिया कोरोना वायरस से छुटकारा पाने के लिए संघर्ष कर रही है। इस संकट को दूर करने के लिए व्यापक प्रयासों की आवश्यकता है ताकि कोरोना वैक्सीन सभी तक पहुंच सके।

कैथोलिक चर्च के प्रमुख ने कहा: "इराक आतंकवाद का सामना कर रहा है और इस वजह से देश को नरसंहार और वित्तीय नुकसान उठाना पड़ा है और इस आतंकवाद ने कई ईजदियों को मार डाला है।"

उन्होंने कहा कि शांति और सुलाह के लिए संवाद और कानून का सम्मान जरूरी है।

पोप फ्रांसिस ने कहा: मैं शांति के लिए किए गए सभी प्रयासों की सराहना करता हूं और मैं देश की भलाई के लिए उठने वाली हर आवाज के साथ हूं।

उन्होंने कहा "मैं उन देशों और संगठनों को भी धन्यवाद देता हूं जो इराक के पुनर्निर्माण और बेघरों और शरणार्थियों की मदद करने में मदद कर रहे है।

पोप फ्रांसिस ने निष्कर्ष निकाला: हत्या और आतंकवाद को सही ठहराने के लिए ईश्वर के नाम का दुरुपयोग नहीं किया जाना चाहिए।

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
1 + 4 =