۶ تیر ۱۴۰۱ |۲۷ ذیقعدهٔ ۱۴۴۳ | Jun 27, 2022
डा. अब्बास मेहदी हसनी

हौज़ा / वसीम रिज़वी ने अपने चेहरे पर इस्लाम का पर्दा डाल रखा है। उनकी करनी और कथनी मे कहीं भी इस्लाम दिखाई नहीं देता है। वह वर्तमान में मानव विरोधी और इस्लामी विरोधी तत्वों का एक उपकरण है।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, भारत से संबंध रखने वाले डा. मौलाना सैयद अब्बास मेहदी हसनी, ने कहा कि वसीम रिज़वी के कुरान से संबंधित हाल के बयानों से स्पष्ट रूप से पता चलता है कि वह इस्लामी शिक्षाओ से अनजान हैं। वह कुरान की सच्चाई और इतिहास से भी अनभिज्ञ है, अन्यथा बच्चे भी ऐसी बातें नहीं करते।

उन्होंने कहा कि वसीम रिजवी ने अपने चेहरे पर इस्लाम का पर्दा डाल रखा है। उनकी करनी और कथनी मे कहीं भी इस्लाम दिखाई नहीं देता है। वह वर्तमान में मानव विरोधी और इस्लामी विरोधी तत्वों का एक उपकरण है।

उन्होंने आगे कहा कि वसीम रिज़वी समय समय पर भड़काऊ बयान देता रहता है और मुसलमानों के बीच नफरत के बीज बोए और झगड़ो की आग लगाए ताकि अपने स्वामीयो (आकाओं) को खुश कर सके।

डा. हसनी ने जोर देकर कहा कि वसीम रिज़वी और उसके पीछे के सभी तत्वों और इस्लाम के दुश्मनों को पता होना चाहिए कि अल्हम्दुलिल्लाह, मुस्लिम उम्माह इस्लाम से अवगत हैं और इसके खिलाफ साजिश रची जा रही है।

अंत में, उन्होंने कहा कि इस तरह के उत्तेजक कार्यों से मुस्लिम उम्म में अधिक एकता और भाईचारे का माहौल पैदा होगा।)

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
9 + 2 =