۲۹ اردیبهشت ۱۴۰۱ |۱۷ شوال ۱۴۴۳ | May 19, 2022
مولانا کلب جواد نقوی

हौज़ा / मौलाना कल्बे जवाद:वसीम के खिलाफ दर्ज हो आतंकवाद का मुकदमा वसीम के विरोध में जुटे हज़ारों लोग कड़ी सुरक्षा के बीच सम्पन्न हुआ जलसा

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार,लखनऊ: शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिज़वी के द्वारा सर्वोच्च न्यायालय में दाखिल की गई विवादित याचिका के विरोध का दायरा लगातार बढ़ता जा रहा है । शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जवाद नकवी के आवाहन पर आयोजित जलसे मे रविवार को वसीम रिज़वी के खिलाफ लखनऊ के हुसैनाबाद स्थित बड़ा इमामबाड़ा के पास जलसा ए तहफ़ूज़े क़ुरआन का आयोजन किया गया जिसमें शिया और सुन्नी दोनों ही फिरको के धर्मगुरुओं ने शिरकत कर एक आवाज़ में सरकार से मांग की कि पवित्र कुरान का अपमान करते हुए उसकी 26 आयतों को रिमूव करने की मांग वाली याचिका करने वाले वसीम रिज़वी को आतंकवादी घोषित करते हुए उसके खिलाफ आतंकवाद का मुकदमा दर्ज कर उसे जेल भेजा जाए ।

आयोजित जलसे में मौलाना सलमान नदवी, टीले वाली मस्जिद के इमाम मौलाना फ़ज़ले मन्नान वायज़ी, मौलाना कल्बे सिबतैन नूरी, मौलाना सय्यद पयाम हैदर,  मौलाना आदिल फ़राज़ के अलावा शिया सुन्नी समुदाय के अनेक धर्मगुरु के साथ स्वामी सारंग भी उपस्थित थे। साथ ही सुप्रीम कोर्ट के वकील महमूद पराचा ने भी इस विरोध सभा में शिरकत की । जलसा ए तहफुज़े कुरान के आयोजक मौलाना कल्बे जावाद नकवी ने नारा दिया कि "अपनी कूवत अपनी शान, एक नबी है एक कुरआन"। 
पवित्र कुरान का अपमान करते हुए न्यायालय में अनुचित विवादित याचिका दायर करने वाले वसीम रिज़वी के खिलाफ न सिर्फ मुर्दाबाद के नारे लगाए गए बल्कि विरोध सभा में भाग लेने आए हजारों लोगों ने वसीम रिजवी चोर के नारे भी लगाए । 2 दिन पूर्व बुलाई गई इस विरोध सभा से पहले पुलिस प्रशासन ने भी सुरक्षा के व्यापक इंतेज़ाम किए थे डीसीपी पश्चिम देवेश पांडे पूरे पुलिस अमले के साथ मौजूद थे और रूमी गेट पुलिस चौकी के पास बैरी केटिंग कर दी गई थी क्योंकि यह आवाहन भी किया गया था कि विरोध सभा के बाद छोटे इमामबाड़े तक एक विरोध मार्च भी निकाला जाएगा विरोध मार्च की अनुमति न होने की वजह से पुलिस ने रास्ते को पूरी तरह से बंद कर दिया था । करीब 3 घंटे तक चले इस विरोध प्रदर्शन में आए धर्मगुरु ने एक स्वर में वसीम रिज़वी के खिलाफ सख्त कार्रवाई किए जाने की मांग की।

वसीम के जेल जाने तक आंदोलन जारी रहेगा : मौलाना कल्बे जवाद

जलसा ए तहफुज़ ए कुरान में आए लोगों को खिताब करते हुए शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जवाद ने मंच से ऐलान किया कि कुरान की बेहुरमती करने वाला वसीम रिज़वी जब तक जेल नहीं जाएगा तब तक हमारा यह आंदोलन जारी रहेगा । मौलाना सय्यद कल्बे जवाद ने कहां की वसीम रिज़वी का सामाजिक बहिष्कार किया जाना चाहिए वसीम रिज़वी को अब मरने के बाद मुसलमानों का कब्रिस्तान नसीब नहीं होना चाहिए । उन्होंने कहा कि वसीम रिज़वी को ना ही किसी को शादी में बुलाना चाहिए न मजलिस मातम में बुलाना चाहिए क्योंकि वह अब मुसलमान ही नहीं रहा क्योंकि मुसलमान कुरान की तौहीन नहीं कर सकता।
मौलाना कल्बे जवाद ने कहा कि सरकार को चाहिए कि वसीम रिज़वी की एनआईए से जांच कराएं उन्होंने कहा कि एनआईए की जांच में यह स्पष्ट हो जाएगा कि वसीम रिज़वी देश दुश्मनों से मिलकर देश को तोड़ने की साज़िश कर रहा है । मौलाना ने कहा कि किसी भी किताब में रद्दो बदल करने का अधिकार सिर्फ उस किताब के लिखने वाले का होता है और कुरान अल्लाह की किताब है जिसमें रद्दो बदल सिर्फ और सिर्फ अल्लाह ही कर सकता है और अगर किसी किताब में किसी को रद्दो बदल करवाना हो तो उसे किताब के लेखक के पास जाना चाहिए । मौलाना ने मंच से ऐलान किया कि आगामी 19 मार्च को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की जामा मस्जिद पर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा।

वसीम रिज़वी को फांसी नहीं होने देंगे:  महमूद पराचा

वसीम रिज़वी के खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर सभा को संबोधित करते हुए सुप्रीम कोर्ट के वकील महमूद प्राचा ने कहा कि हमें भावनाओ में आकर होश नहीं खोना चाहिए हमें संविधान के दायरे में रहकर ही वसीम रिज़वी को सज़ा दिलानी है। उन्होंने कहा कि वसीम रिजवी को मौत की नहीं बल्कि कम से कम 5 सौ साल की सज़ा होगी क्योंकि उसने इतने अपराध किए हैं जिन की सज़ा अगर उसे मिलेगी तो उसकी मुद्दत 5 सौ साल से ज़्यादा हो सकती है उन्होंने कहा कि वसीम रिज़वी पर हत्या का भी मुकदमा है और हत्या के मुकदमे में मौत की सज़ा का प्रावधान हैं लेकिन हम उसे फांसी की सजा़ नहीं होने देंगे क्योंकि फांसी होने के बाद अपराधी मर जाता है। हम चाहते हैं कि उसके द्वारा किए गए अपराधों की सज़ा उसे ताउम्र कैद रह कर मिले उन्होंने कहा कि वसीम रिज़वी के द्वारा दायर की गई याचिका से साज़िश की गघं आती है इसलिए यह ज़रूरी है कि यह पता लगे की वसीम रिज़वी के पीछे कौन सी ताकतें हैं उन्होंने कहा कि वसीम रिज़वी ने आतंक वाला कृत्य किया है उसकी जांच एनआईए से होनी चाहिए।

सुप्रीम कोर्ट से अपील करता हूँ वसीम की याचिका खारिज की जाए: स्वामी सारंग
सभा को संबोधित करते हुए स्वामी सारंग ने कहा कि वसीम रिज़वी के द्वारा पवित्र कुरान की आयतों का जो अपमान किया गया है वह सरासर गलत और निंदनीय है उन्होंने सुप्रीम कोर्ट से अपील की है कि वह इस अनुचित याचिका को खारिज करें स्वामी सारंग ने कहा कि यदि इस तरह की अनुचित याचिकाओं का संज्ञान लिया जाने लगा तो भविष्य में वसीम की तरह के अन्य लोग सभी धर्मों की पवित्र किताबों पर आवाज़ उठाने लगेंगे उन्होंने कहा कि धार्मिक किताबें इंसानियत भाईचारे का संदेश देती हैं ना कि वसीम की तरह आतंकवाद को बढ़ावा देती हैं।

वसीम जाहिल है :मौलाना हसनैन बकाई
वसीम रिज़वी के खिलाफ आयोजित विरोध सभा को संबोधित करते हुए मौलाना हसनैन बकाई ने कहा कि वसीम रिज़वी के द्वारा जाहिलाना याचिका दायर की गई है याचिका के खिलाफ पूरी दुनिया खड़ी है उन्होंने कहा कि वसीम रिज़वी जाहिल है वसीम रिज़वी कौन है और उसके पीछे कौन खड़ा है यह पता लगाना अत्यंत ज़रूरी है हसनैन बकाई ने कहा कि वसीम रिज़वी को गिरफ्तार कर उसकी जांच एनआईए से करा कर यह पता लगाना चाहिए कि वसीम रिज़वी के द्वारा इस तरह से समाज में अराजकता फैलाने के लिए पवित्र कुरान के खिलाफ कोर्ट में याचिका दाखिल की गई है उसके पीछे किसका दिमाग चल रहा है । उन्होंने कहा कि जिस तरह से पानी पर लाठी मारने से पानी जुदा नहीं होता उसी तरह से किसी साज़िश के तहत हिंदू मुसलमान जुदा नहीं हो सकते।

वसीम के हमदर्दों का हो बायकाट : माहरूख मिर्ज़ा
विरोध सभा में बोलते हुए प्रोफेसर माहरूख मिर्ज़ा ने कहा कि हमें मौलाना कल्बे जवाद साहब के कंधों को मज़बूत करना है क्योंकि मौलाना कल्बे जवाद शिया सुन्नी इत्तेहाद की एक जीती जागती तस्वीर हैं उन्होंने कहा कि वसीम रिज़वी के द्वारा किए गए इस जाहिलाना कृत्य की जितनी भी निंदा की जाए कम है और उसके इस कृत्य के लिए पूरे भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में उसका बायकाट होना चाहिए। श्री माहरुख मिर्ज़ा ने लोगों से अपील की है कि वह पवित्र कुरान का अपमान करने वाले वसीम रिज़वी से नाता तोड़ लें उसका पूरी तरह से सामाजिक बहिष्कार किया जाए।

मस्जिदों के फर्क को मिटा दो:मौलाना सलमान नदवी
विरोध सभा में खेताब करते हुए शैखुलहदीस हज़रत मौलाना सलमान नदवी ने कहा कि एक उम्मत है एक मुसलमान हैं एक कुरान है और एक इस्लाम है मुसलमान हज़रत मोहम्मद सल्लाहु अलैहे वसल्लम को नबी मानते हैं और कुरान को अपना रहबर मानते हैं उन्होंने कहा कि मस्जिद अल्लाह का घर है मस्जिदों को शिया सुन्नी फिरको में ना बांटो । मौलाना सलमान नदवी ने कहा कि वसीम रिज़वी काफिर है वसीम रिज़वी मुनाफिक है वसीम रिज़वी अपराधी है और उसकी जगह जेल में है मौलाना सलमान नदवी ने कुरान की बेहुरमती करने वाले वसीम रिज़वी को सख्त सज़ा दिए जाने की मांग करते हुए कहा कि वसीम ने न सिर्फ अल्लाह की किताब पर सवाल उठाया है बल्कि उसने देश की एकता और अखंडता को तोड़ने का प्रयास भी किया है इसलिए उसकी जगह जेल है उन्होंने कहा कि अपने बच्चों को कुरान की तालीम दीजिए और आने वाले रमज़ान मुबारक के महीने में मस्जिदों में, घरों में कुरान की तिलावत को कसरत से करये।

कुरान की एक आयत पढ़ कर सुनाए वसीम:मौलाना रज़ा हुसैन

वसीम के खिलाफ आयोजित की गई विरोध सभा में खेताब करते हुए मौलाना रज़ा हुसैन ने कहा कि वसीम रिज़वी ने कुरान की जिन 26 अशोक को कुरान से रिमूव करने की याचिका सुप्रीम कोर्ट में दायर की है उन 26 आयतों में से किसी भी एक आयत को वो पढ़कर सुनाए तब हम जानेंगे कि उसे कुरान की मालूमात है। मौलाना रज़ा हुसैन ने कहा कि वसीम रिज़वी जाहिल है और उसे कुरान पढ़ना तक नहीं आता है इसलिए पूरी उम्मीद है कि वसीम रिज़वी की इस जाहिलाना हरकत के पीछे कोई बड़ी ताकत काम कर रही है । उन्होंने सरकार से मांग की है कि वसीम रिज़वी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे जेल की सलाखों के पीछे भेजा जाए।

वसीम रिज़वी को कब्र नहीं मिलनी चाहिए :मौलाना कल्बे सिबतैन नूरी
विरोध सभा में बोलते हुए स्वर्गी मौलाना कल्बे सादिक़ के बेटे मौलाना कल्बे सिबतैन नूरी ने कहा कि पवित्र कुरान कि 26 आयतो को रिमूव करने की याचिका दायर करने वाले वसीम रिज़वी ने अपना मुसलमान होने का अधिकार खो दिया है अब उसे उसकी कब्र में ना दफनाया जाए बल्कि उसकी मौत से पहले खरीदी गई हयाती कब्र में किसी हाफिज़ ए कुरान की मय्यत को दफनाया जाए। उन्होंने कर्बला तालकटोरा के मुतवल्ली से अपील की है कि वह ऐलान करें कि तालकटोरा कर्बला में अब वसीम रिज़वी की मौत के बाद उसके शव को नहीं दफनाया जाएगा उन्होंने कर्बला के मुतवल्ली से अपील की है कि वह वसीम रिज़वी के द्वारा जमा किए गए उसकी कब्र के पैसे को वापस कर दें। उन्होंने कहा कि कुरान की 26 आयतों से तो कोई खतरा नहीं है बल्कि वसीम रिज़वी से समाज को खतरा है।

हमारी एकता को तोड़ा जाता है:मौलाना फ़ज़ले मन्नान वायज़ी

लखनऊ में बड़े इमामबाड़े के पास आयोजित जलसे को खिताब करते हुए टीले वाली मस्जिद के इमाम मौलाना फज़ले मन्नान वाईज़ी ने कहा कि हमारी एकता को तोड़ा जाता है हम दीन पर चलेंगे तब सब एक हो जाएगे उन्होंने कहा कि वसीम चोर है वसीम आतंकवादी है बुराइयों के खिलाफ हमें एक होकर लड़ना होगा एक हो जाओ । मौलाना फज़ले मन्नान ने सरकार से मांग की है कि सरकार कुरान की बेहुरमति करने वाले वसीम रिज़वी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे जेल भेजें।

वसीम के परिवार ने तोड़ा वसीम से नाता

हमेशा विवादित बयान देकर विवादों में रहने वाले शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिज़वी के परिवार ने भी अब उससे पीछा छुड़ाना शुरू कर दिया है । वसीम रिज़वी के छोटे भाई के द्वारा सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल कर यह कहा गया है कि वसीम रिज़वी अपना मानसिक संतुलन खो बैठा है और उसके द्वारा किए जा रहे देश और इस्लाम विरोधी कृत्यों से उसके परिवार का कोई लेना-देना नहीं है ।वसीम रिज़वी के भाई के द्वारा सोशल मीडिया पर वायरल किए गए वीडियो में कहा गया है कि वसीम रिज़वी का रोज़ा नमाज़ हज से कोई वास्ता नहीं है और उसने जो कुरान की 26 आयतों को रिमूव करने वाली याचिका कोर्ट में दाखिल की है उससे उसके परिवार का कोई वास्ता नहीं है।

मजहबी मसलों पर शिया सुन्नी एक हैं :मौलाना आदिल फराज़
वसीम रिज़वी के खिलाफ आयोजित जलसे मे खेताब करते हुए मौलाना आदिल फराज़ ने कहा कि मज़हब के मसले पर हम एक हैं उन्होंने मंच से नारा ए तकबीर नारे रिसालत और नारा ए हैदरी बुलंद आवाज़ में लगाकर शिया सुन्नी इतिहाद को और ज़्यादा मज़बूत किए जाने पर ज़ोर दिया । मौलाना आदिल फराज़ ने मंच से ऐलान किया कि सरकार वसीम रिज़वी के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें क्योंकि उसने अल्लाह की किताब पवित्र कुरान की 26 आयतों पर उंगली उठाई है उन्होंने कहा कि वसीम रिज़वी को कुरान की आयतों का इल्म नहीं है और उसने किसी साज़िश का शिकार होकर इस तरह की जाहिलाना हरकत की है।

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
3 + 15 =