۴ بهمن ۱۴۰۰ |۲۰ جمادی‌الثانی ۱۴۴۳ | Jan 24, 2022
इमामे जुमा नजफ अशरफ

हौज़ा / हुज्जतुल-इस्लाम वल-मुस्लेमीन क़बानची ने कहा: यमन में युद्ध का समाधान बहुत सरल है और वह सऊदी अरब की सेना की यमन से वापसी और आक्रामकता का अंत है, इस प्रकार सब कुछ समाप्त हो जाएगा।

हौज़ा न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, नजफ अशरफ के इमामे जुमा हुज्जतुल-इस्लाम वल मुस्लेमीन सैयद सदरुद्दीन क़बानची ने कहा: यमन युद्ध से कोई भी खुश नहीं है। इस युद्ध को समाप्त करने का सरल तरीका है, सऊदी अरब की सेना की यमन से वापसी और आक्रामकता का अंत है, इस प्रकार सब कुछ समाप्त हो जाएगा।

उन्होने सऊदी अरब से मांग की है कि वह यमन से अपनी सेना वापस बुलाए और यमनी लोगों पर हमले बंद करे।

नजफ अशरफ के इमामे जुमा ने हजरत बाक़ियतुल्लाह-आज़म (अ.त.फ.श.) के जन्मदिन के अवसर पर बात करते हुए कहा: इमाम महदी (अ.त.फ.श.) का मुद्दा एक दृष्टिकोण से एक हकीकत मे बदल चुका है। और आज पूरी दुनिया मानवीय योजनाओं की विफलता के बाद, दुनिया एक सुधारक की प्रतीक्षा कर रही है।

हुज्जतुल-इस्लाम वल मुस्लेमीन क़बानची ने कहा: सुरक्षा परिषद, मानवाधिकार संगठन और संयुक्त राष्ट्र मानवता की समस्याओं को हल करने में सक्षम नहीं हैं, लेकिन मानवता की समस्याएं दिन-प्रतिदिन बढ़ रही हैं।

उस घटना का जिक्र करते हुए जिसमें पवित्र नबी (स.अ.व.व.) ने ख़बर दी है, कि ओर इशारा करते हुए कहा: पैगंबर (स.अ.व.व.) ने हज़रत इमाम महदी (अ.त.फ.श.) के पुनः प्रकट (ज़हूर) की खुशखबरी दी है। बक़ीयातुल्लाहिल आज़म (अ.त.फ.श.) के ज़हूर का मुद्दा दार्शनिक बहस से बाहर निकल कर लोगों के वास्तविक जीवन में आ गया और मानवता के सभी उद्धारक अज उसकी प्रतीक्षा कर रहे हैं।

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
7 + 6 =