۲۹ اردیبهشت ۱۴۰۱ |۱۷ شوال ۱۴۴۳ | May 19, 2022
سید محمد نجفی

हौज़ा/ बुजुर्ग आलीमे दीन हुज्जतुल इस्लाम मौलाना शेख नौरोज़ अली नजफ़ी कि वफात पर हसरत ज़ाहिर करते हुए तज़ीयत पेश की और कहां की अल्लामा शेख नौरोज़ अली नजफ़ी कि वफात क़ौम का बड़ा घाटा है जो मुद्दतों पूरा नहीं हो सकता.

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार , जामिया
मदीनातुल इल्म इस्लामाबाद के अध्यक्ष अल्लामा डॉ सैय्यद मोहम्मद नज़फी ने कराची में रह रहें अल्लामा शेख नौरोज़ अली नजफ़ी कि वफात पर अफसोस करते हुए अपना ताज़ीयत नामा जारी करते हुए कहा कि अल्लामा शेख नौरोज़ अली नजफ़ी  कि वफात एक कौम के लिए खसारा है जो मुद्दतों पूरा नहीं हो सकेगा.
उनका कहना था शेख नौरोज़ अली नजफ़ी मासूमीन अलैहिमुस्सलाम के इस फरमान के मिसदाक़ थे,
؛ عن الإمام الصادق : إذا مات العالم ثُلم في الإسلام ثَلمة لا يسدّها شيء إلى يوم القيامة" 
शेख नौरोज़ अली नजफ़ी की खिदमत हमेशा याद रखी जाएगी मरहूम ने हौज़ाये इलमिया के लिए काफी खिदमत अंजाम दी.۔
अंत में, पाकिस्तान के सभी उलेमा इमाम ज़माना(अ.स.) और स्वर्गीय के परिवार की सेवा में अपनी संवेदनाएं प्रदान करते हैं।

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
2 + 16 =