۳۱ اردیبهشت ۱۴۰۱ |۱۹ شوال ۱۴۴۳ | May 21, 2022
मकारिम शिराज़ी

हौज़ा / ईरान की इस्लामी क्रांति की सफलता के बाद से लेकर अब तक मराज-ए तक़लीब के चुनाव से संबंधित बयानात, नजरयात और सवाल व जवाब को " मरजेईयत और चुनाव " शीर्षक को विभिन्न संख्याओं में बयान किया जाएगा।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, ईरान की इस्लामी क्रांति की सफलता के बाद से लेकर अब तक मराज-ए तक़लीब के चुनाव से संबंधित बयानात, नजरयात और सवाल व जवाब को " मरजेईयत और चुनाव " शीर्षक को विभिन्न संख्याओं में बयान किया जाएगा। यहां

यहां अयातुल्ला मकरेम शिराजी से चुनाव में उनकी भागीदारी और उनके उत्तर के बारे में पूछे गए प्रश्न का एक प्रतिलेख है।

आयतुल्लाह मकरेम शिराज़ी:

प्रश्न: क्या चुनाव में भाग ना लेना कोई पाप है?

उत्तर: हाँ! बिना "उज़रे शरई" वैध बहाने के चुनाव में भाग न लेना जायज़ नहीं है।

स्रोत: आयतुल्लाहिल उज़मा मकारिम शिराज़ी के कार्यालय की वेबसाइट

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
1 + 3 =