۲۲ مرداد ۱۴۰۱ |۱۵ محرم ۱۴۴۴ | Aug 13, 2022
दिन की हदीस

हौज़ा/ हज़रत इमाम अली(अ.स.) ने एक रिवायत में खुदा की याद के नतीजे की ओर इशारा किया हैं।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार , इस रिवायत को " गुररुल हेकाम" पुस्तक से लिया गया है। इस कथन का पाठ इस प्रकार है:

:قال الامام العلی عليه ‏السلام

اَلذِّكْرُ يونِسُ اللُّبَّ وَ يُنيرُ الْقَلْبَ وَ يَسْتَنْزِلُ الرَّحْمَةَ


हज़रत इमाम अली (अ.स.) ने फरमाया:
अल्लाह तआला की याद अकल को सुकून देती है, दिल को रोशन करती है, और खुदा की रहमत को नाज़ील करती है।
गुररुल हेकाम, हदीस नं.
1858

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
2 + 11 =