۱۴ تیر ۱۴۰۱ |۵ ذیحجهٔ ۱۴۴۳ | Jul 5, 2022
फिलिस्तीनी झंडा

हौजा / मिस्र के विचारक और सामाजिक व्यक्ति शेख रासिम अल-नफीस  ने कहा: फिलिस्तीन का समर्थन करना और ज़ायोनी प्रभुत्व से इस क्षेत्र को मुक्त करना अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की ज़िम्मेदारी है।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार,  मिस्र के प्रसिद्ध विचारक और सामाजिक व्यक्ति शेख रासिम अल-नफीस ने कुद्स विषय आयोजित अंतर्राष्ट्रीय वरचुवल कांफ्रेंस के तीसरे दिन बोलते हुए कहा: कुद्स दिवस एक महान दिन है और कोरोना वायरस के खतरों के बावजूद, इस्लामिक देश इस दिन को एक शानदार तरीके से मनाने की कोशिश कर रहे हैं ।

उन्होंने कहा: इमाम खुमैनी (र.अ.) ने कुद्स दिवस को "यौमूल्लाह" कहा और हमें भी इस दिन को पूर्ण रूप से मनाना चाहिए।

उन्होंने कहा: कुद्स खुदा की विशेषताओं में से एक है और जो खुदा की पवित्रता का प्रकटीकरण है, इसलिए यह शहर भी अल्लाह की दृष्टि में एक शुद्ध शहर है।

मिस्र के इस विचारक और सामाजिक कार्यकर्ता ने कहा: इस पृथ्वी में दफन किए गए सभी पैगंबर (अ.स.) पवित्र हैं क्योंकि अल्लाह तआला ने इस स्थान को शुद्ध बनाया है और इस पवित्रता के लिए हमें कुद्स का समर्थन करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि फिलिस्तीन में ज़ायोनी शासन अवैध है और इस भूमि पर उसका कब्जा निंदनीय है। इस अत्याचारी सरकार के खिलाफ खड़ा होना मुसलमानों की जिम्मेदारी है।

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
4 + 7 =