۲۹ اردیبهشت ۱۴۰۱ |۱۷ شوال ۱۴۴۳ | May 19, 2022
مسجدالاقصی

हौज़ा/ इसराइल ने मस्जिदे अलअक्सा के कंट्रोल को सऊदी अरब को सौपने के बारे में एक अध्ययन शुरू किया है।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार , इजरायल मस्जिदे अलअक्सा  का नियंत्रण सऊदी अरब को सौंपना चाहता है और यह काम संयुक्त अरब अमीरात और इजरायल के बीच संबंधों को सामान्य करने का है।
पहली इजरायली विदेश मंत्री पयेर लापड की संयुक्त अरब अमीरात की दो दिवसीय यात्रा है।
सूत्रों के अनुसार, इजरायल मस्जिदे अल-अक्सा  के लिए एक निदेशक मंडल स्थापित करने पर सहमत हो गया है, जिसके अनुसार सऊदी सरकार अब यरूशलेम में इसके प्रबंधन में अपनी भूमिका निभाएगा,
हालांकि सूत्रों ने बताया कि मस्जिदे अल-अक्सा का नियंत्रण जॉर्डन के शाह अब्दुल्ला द्वितीय के हाथ में रहेगा, लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि सऊदी अरब के अलावा कोई और देश शामिल होगा कि नही,

इससे पहले, संयुक्त अरब अमीरात की अपनी पहली आधिकारिक यात्रा पर, इजरायल के विदेश मंत्री ने स्वीकार किया कि जैसे-जैसे यरुशलम में तनाव बढ़ता गया, पूरे क्षेत्र में तनाव फैल गया।
इजरायली विदेश मंत्री पयेर लापड ने दुबई में संवाददाताओं से कहा, "कोई भी इस तथ्य से इनकार नहीं करता है कि यरुशलम में तनाव से पूरे क्षेत्र को खतरा है।"
हालांकि, यूएई मीडिया को स्पष्ट रूप से खबर नहीं दी गई थी,और लापड अबू धाबी के क्राउन प्रिंस और इस देश के असली शासक, प्रिंस मोहम्मद बिन ज़ायेद अल नाहयान से नहीं मिले, बल्कि प्रतिनिधिमंडल के आधिकारिक मेजबान शेख अब्दुल्ला बिन ज़ायेद अल नाहयान से मिली।
लापड ने अबू धाबी और दुबई में इजरायल के वाणिज्य दूतावास भी खोली, यह देखते हुए कि यह यात्रा ऐसे समय में हुई थी।
पिछले मई में गाजा पट्टी पर 11 दिनों के विनाशकारी हमलों में 66 बच्चों सहित 250 से अधिक फिलिस्तीनी मारे गए थे, जबकि इजरायल में दो बच्चे मारे गए थे।

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
1 + 8 =