۱۴ تیر ۱۴۰۱ |۵ ذیحجهٔ ۱۴۴۳ | Jul 5, 2022
علی

हौज़ा/हज़रत रसूल अल्लाह(स.अ.व.व.)ने एक रिवायत में बच्चों के इम्तिहान लेने के तरीके की ओर इशारा किये है।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार ,इस रिवायत को " तारीखे अमीरुल मोमिनीन अ.स." पुस्तक से लिया गया है। इस कथन का पाठ इस प्रकार है:

:قال رسول اللہ صلى ‌الله ‌عليه ‌و‌آله وسلم

ایُّها‌َالناس، اِمتَحِنوا أولادَکُمْ بِحُبّ عَلِیٍّ. فَمَن أَحَبّهُ فَهُو منکُم وَ مَن اَبغَضَهُ فَلَیسَ مِنکُم!


हज़रत रसूल अल्लाह(स.अ.व.व.)ने फरमाया:


ये लोगों ! अपने बेटों का मोहब्बतें अली अलैहिस्सलाम के ज़रिए इम्तिहान लों- जो भी अली अलैहिस्सलाम से मोहब्बत करेगा वह आपका बेटा हलाली है और जो उन से दुश्मनी करे वह आपका बेटा हलाली नहीं हैं।
तारीखे अमीरुल मोमिनीन (अ.स.)इब्ने असाकिर पेंज,255

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
8 + 7 =