۸ تیر ۱۴۰۱ |۲۹ ذیقعدهٔ ۱۴۴۳ | Jun 29, 2022
আয়াতুল্লাহ খামেনেই

हौज़ा/इस्लामी क्रांति के सर्वोच्च नेता आयतुल्लाहिल उज़्मा सैय्यद अली ख़ामनेई ने 25 जून, 2021 को कोरोना की ईरानी वैक्सीन कोइरान बरकत की पहली खुराक प्राप्त की थी और आज सुबह वैक्सीन की दूसरी खुराक ली

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार ,इस्लामी क्रांति के सर्वोच्च नेता आयतुल्लाहिल उज़्मा सैय्यद अली ख़ामनेई ने कोरोना के टीकाकरण के बाद उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए खुज़ेस्तान की समस्या की ओर इशारा किया और हाल की घटनाओं को दर्दनाक बताते हुए कहां,पिछले सात या आठ दिनों में हमारी चिंताओं में से एक खुज़ेस्तान और लोगों के लिए पानी और अन्य मुद्दों पर चर्चा करते हैं।
एक व्यक्ति के लिए यह देखना वास्तव में दर्दनाक है कि खुज़ेस्तान में इतने वफादार लोग हैं, इतने सारे प्राकृतिक संसाधन और क्षमताएं और इतने सारे कारखाने हैं। कितने कारखाने होने के बावजूद लोगों की हालात चिंताजनक है और ऐसी चीज की वजह से मुझे बहुत तकलीफ है।
अयातुल्ला खामेनेई ने अहेवाज़ के लोगों की शिकायतों और खुज़ेस्तान में पानी और जल निकासी पर पहले की सलाह को सही ठहराया।और सलाह की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि अगर इन सिफारिशों पर ध्यान दिया जाता तो हमें उस समय इतनी मुश्किलों का सामना नहीं करना पड़ता।
उन्होंने कहा कि पानी की समस्या कोई छोटी बात नहीं है।
इस्लामी क्रांति के सर्वोच्च नेता ने कहां आठ साल की पवित्र रक्षा की कुछ घटनाओं का उल्लेख करते हुए, उन्होंने खुज़ेस्तान के लोगों की वफादारी की सराहना की और कहा: "आठ साल की पवित्र रक्षा में जो लोग अग्रिम पंक्ति में थे, वे खुज़ेस्तान के लोग थे और सच्चाई यह है कि वे दृढ़ रहे।
मैंने करीब से देखा है। उन्होंने इस बात पर खेद और चिंता व्यक्त की कि खुज़ेस्तान के लोग इस तरह की दुविधा का सामना कर रहे हैं।आदेश दिया कि इस समस्या को दूर किया जाए। उन्होंने अफसोस जताया कि समस्या का समाधान सही समय पर नहीं किया गया उन्होंने विभिन्न सरकारी और गैर-सरकारी संगठनों के काम पर संतोष व्यक्त किया और कहा कि यह काम जारी रहना चाहिए. उन्होंने कहा कि यह संस्था उन्हीं की है।
इस्लामी क्रांति के सर्वोच्च नेता ने लोगों से दुश्मन द्वारा मुद्दों के दुरुपयोग के प्रति सतर्क रहने की अपील की हैं।कि लोगों को सतर्क रहना चाहिए क्योंकि दुश्मन, हर छोटे मुद्दे के खिलाफ, देश के खिलाफ, क्रांति के खिलाफ, इस्लामी गणराज्य के खिलाफ और लोगों के हितों के खिलाफ है।"
लोगों को सतर्क रहना चाहिए ताकि दुश्मन इसका फायदा न उठाएं और दुश्मन को कोई बहाना न दें।
हमें आशा है कि इंशा अल्लाह तआला इस राष्ट्र पर अपनी बरकते नाजि़ल करें और सब की हिफाज़त करें

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
5 + 6 =