۳۱ اردیبهشت ۱۴۰۱ |۱۹ شوال ۱۴۴۳ | May 21, 2022
امام هادی

हौज़ा/ इमाम हादी अलैहिस्सलाम ने एक रिवायत में एक कीमती और बुनियादी शब्द बयान फरमाते है।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार , इस रिवायत को " बिहरूल अनवार" पुस्तक से लिया गया है। इस कथन का पाठ इस प्रकार है:

:قال الامام الہادی النقی علیہ السلام

مَن رَضِيَ عَن نَفسِهِ كَثُرَ السّاخِطونَ عَلَيهِ


हज़रत इमाम हादी अलैहिस्सलाम ने फरमाया:


जो अपने आप से राज़ी हो उससे नाराज़ होने वाले बहुत ज़्यादा होते हैं।
बिहरूल अनवार,भाग 72,पेंज 316

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
9 + 7 =