۲۸ مرداد ۱۴۰۱ |۲۱ محرم ۱۴۴۴ | Aug 19, 2022
दिन की हदीस

हौज़ा/ हज़रत इमाम मूसा काज़िम अलैहिस्सलाम ने एक रिवायत में सच और झूठ बोलने की कसौटी की ओर इशारा किए हैं।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार , इस रिवायत को " तोहफ ए ओकूल" पुस्तक से लिया गया है। इस कथन का पाठ इस प्रकार है:

قال الامام الکاظم علیہ السلام

أَي فُلَانُ اتَّقِ اللَّهَ وَ قُلِ الْحَقَّ وَ إِنْ كانَ فِيهِ هَلَاكك فَإِنَّ فِيهِ نَجَاتَك أَي فُلَانُ اتَّقِ اللَّهَ وَ دَعِ الْبَاطِلَ وَ إِنْ كانَ فِيهِ نَجَاتُك فَإِنَّ فِيهِ هَلَاكك


हज़रत इमाम मूसा काज़िम अलैहिस्सलाम फरमाया:


ए आदमी! अल्लाह से डरो और हक़ बात कहो क्योंकि इसमें(ज़ाहिरै) तुम्हारी मौत ही क्यों ना हो और इसमें कोई शक नहीं है कि इसमें तुम्हारी निज़ात है।
और ए आदमी! अल्लाह का तकवा अख्तियार करो और (बातिल) झूठ को तर्क कर दो अगरचे इसमें ज़ाहिरै तुम्हारी निज़ात ही क्यों ना हो और इसमें कोई शक नहीं कि इसमें तुम्हारी मौत है।
तोहफ ए ओकूल"पेंज 408

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
1 + 2 =