۱۶ تیر ۱۴۰۱ |۷ ذیحجهٔ ۱۴۴۳ | Jul 7, 2022
رہبر انقلاب اسلامی آیت اللہ خامنہ ای نے کووڈ 19 کی ایرانی ویکسین برکت کی دوسری ڈوز انجیکٹ کروائی

हौज़ा / अफ़ग़ानिस्तान हमारा बंधु ‎देश है, हम अफ़ग़ान राष्ट्र के साथ हैं, सरकारें आती जाती रहती हैं, जो बाक़ी रहने ‎वाला है वह अफ़ग़ान राष्ट्र है। सरकारों से हमारे संबंध, हमारे साथ उनके रवैये पर ‎निर्भर हैं।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार,  राष्ट्रपति इब्राहीम रईसी और उनके मंत्रीमंडल के सदस्यों ने देश की तेरहवीं सरकार का ‎कार्यकाल शुरू होने के आग़ाज़ में शनिवार को तेहरान में इमाम ख़ुमैनी इमाम बारगाह ‎में इस्लामी क्रान्ति के सुप्रीम लीडर आयतुल्लाहिल उज़मा ख़ामेनेई से मुलाक़ात की। ‎

यह मुलाक़ात सरकार के नाम से मनाए जाने वाले सप्ताह और भूतपूर्व राष्ट्रपति ‎मोहम्मद अली रजाई और भूतपूर्व प्रधान मंत्री जवाद बाहुनर की हत्या की बरसी के ‎मौक़े पर हुयी। इस मुलाक़ात में सुप्रीम लीडर ने अफ़ग़ानिस्तान के मौजूदा हालात की ‎तरफ़ इशारा करते हुए, इरान के रवैये के बारे में कहा कि अफ़ग़ानिस्तान हमारा बंधु ‎देश है, हम अफ़ग़ान राष्ट्र के साथ हैं, सरकारें आती जाती रहती हैं, जो बाक़ी रहने ‎वाला है वह अफ़ग़ान राष्ट्र है। सरकारों से हमारे संबंध, हमारे साथ उनके रवैये पर ‎निर्भर हैं। ‎

आयतुल्लाहिल उज़मा ख़ामेनेई ने इस मुलाक़ात में पिछली सरकारों को की जानी ‎नसीहत को इस मुलाक़ात में भी दोहराते हुए कहाः वक़्त बड़ी तेज़ी से गुज़र जाता है, ‎यह चार साल जल्द ख़त्म हो जाएंगे, इसलिए हर लम्हे और हर मौक़े का इस्तेमाल ‎करें। इस वक़्त को, जो जनता और इस्लाम से संबंधित है, बर्बाद न होने दीजिए। ‎
उन्होंने नई सरकार के सदस्यों को नसीहत की कि वे सभी विभागों में क्रांतिकारी व ‎सूझबूझ भरे बदलाव की कोशिश करें। उन्होंने क्रांतिकारी होने की परिभाषा बयान करते ‎हुए कहा, क्रांतिकारी होना समझदारी के साथ होना चाहिए। आग़ाज़ से अबतक इस्लामी ‎गणराज्य की यही शैली रही है कि इस्लामी आंदोलन युक्ति व समझ-बूझ के साथ आगे ‎बढ़े।

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
8 + 7 =