۲۹ دی ۱۴۰۰ |۱۵ جمادی‌الثانی ۱۴۴۳ | Jan 19, 2022
पोस्टर

हौज़ा / तहरीक-ए-दीनदारी के प्रमुख, मोहसिन मिलत जाफरिया, खतीब-ए-आज़म, तंज़ीमुल मकातिब के बानी मौलाना सैयद गुलाम अस्करी (अ.म.) की शरीके हयात का निधन हो गया।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, मोमिना, आबिदा, सालेहा, हाजिया जायरा सैयदा रियाज फातिमा, मरहूम सैयद अली हमजा की बेटी, तहरीक-ए-दीनदारी के मुखिया खतीब-ए-आजम मौलाना सैयद गुलाम अस्करी ताबे सराह की शरीके हयात का मुखतसर सी अलालत के बाद 16 सिंतबर 2021 दिन जुमरात को निधन हो गया। अंतिम संस्कार बिजनौर जिला लखनऊ में शबे जुमा किया जाएगा।

मौलाना सैयद सफी हैदर जैदी साहब तंजीमुल मकातिब के सचिव अज़ा के सिलसिले में लखनऊ से बाहर हैं। उनकी मृत्यु की खबर मिलने पर, उन्होंने निम्नलिखित संदेश भेजा:

इन्ना लिल्लाहे वा इन्ना इलैहे राजेऊन

बुजुर्ग खानदान यादगार बानी ए तंजीम हमारी बड़ी मुमानी जिनसे महरे मादरी की खुशबू मिलती थी कुछ लम्हात पहले अपने रफ़ीक़े हयात से- जिनसे मुलाकात की तवील अर्से से मुंतज़िर थी। इंशाल्लाह वादीउस्सलाम मे जा मिली।
अलमनाक खबर आलमे सफर मे मिली - दूर से इसाले सवाब के अलावा चारा नही।
अस्पताल से जनाज़ा बिजनौर जिला लखनऊ जा रहा है। बानी ए तंज़ीम के पहलू मे तदफीन होगी।
तंज़ीम के सभी सदस्यों से अनुरोध है कि इसाले सवाब और दुआ ए मग़फिरत विशेष रूप से शबे दफन सदक़ा देने की गुज़ारिश है।

सोगवार सैयद सफी हैदर

यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि हालांकि दिवंगत एक गृहिणी थी, लेकिन बानी ए तंजीम की नेकीयो मे हमराही आपकी नमाया इमतियाज़ है।
इस दुख की घड़ी में हम हौजा न्यूज एजेंसी की ओर से मौलाना सफी हैदर जैदी और तंज़ीमुल मकातिब के कर्मचारीयो की सेवा में, विशेष रूप से मृतक के परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करते हैं।

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
5 + 3 =