۱ خرداد ۱۴۰۱ |۲۰ شوال ۱۴۴۳ | May 22, 2022
میرٹھ میں تحت اللفظ مرثیہ خوانی کا عشرہ اختتام پزیر

हौज़ा/ मेरठ के इमामबारगाह छोटी कर्बला में मरसिया खवानी का दस रोज़ा प्रोग्राम रखा गया था वह प्रोग्राम समाप्त हो गया इस 10 रोज़ा प्रोग्राम के अंत में कोराअंदज़ी के आधार पर चयनित व्यक्तियों को पुरस्कार प्रदान किए गए।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार , पहली रविअव्वल को मेरठ के आज़खाना छोटी कर्बला मैं दस रोज़ा प्रोग्राम रखा गया था मरसिया खवानी का जो अपने निर्धारित समय पर खत्म हुआ इस प्रोग्राम के अंत में लोगों को कोराअंदज़ी के आधार पर चयनित व्यक्तियों को पुरस्कार प्रदान किए गए।
हसनैन रज़ा अमरोही का नाम इस साल के पुरस्कार में निकला है, हसनैन रज़ा ने उस्ताद अनवर ज़हीर मेरठी को यह पुरस्कार प्रदान किया हैं। हसनैन रज़ा का नाम पुरस्कार में दूसरी बार आया है।
मौलाना रिफअत हुसैन पुरस्कार बराये सुज़खावानी दिया गया और पेशखावानी जमशेद रज़ा के नाम हुआ इस साल का अवार्ड मोहम्मद रज़ाके नाम रहा
चयनित श्रोताओं के लिए पुरस्कारों का सिलसिला पुरस्कार का सिलसिला इसी साल शुरू हुआ है जिसमें मजलिस पढ़ने वाले मरसिया पढ़ने वाले सोज़ खवानी करने वाले सब को दिया गया है इसी साल शुरू किया गया है।
एक अवार्ड पब्लिक के लिए भी रखा गया मगर शर्त यह थी कि जो शुरू से लेकर अंत तक रहेगा उसको दिया जाएगा,
मेरठ के इमामबारगाह छोटी कर्बला में मरसिया खवानी का दस रोज़ा प्रोग्राम यह 2009 से शुरू हुआ है। इससे पहले खिताबत का अवार्ड मरहूम मोहम्मद मुर्तुज़ा के हिस्से में आया है, 10 रोज़ा प्रोग्राम हर साल अलग-अलग खतीब को दिया जाता है। मगर और दूसरे अवार्ड अलग-अलग लोगों को दिया जाता है जब उनका नाम आ जाए कोरा कशी में अल हमदुलिल्ला एक प्रोग्राम बहुत कामयाब रहा और दुआओं के साथ यह प्रोग्राम खत्म हुआ.

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
5 + 9 =