۳۰ دی ۱۴۰۰ |۱۶ جمادی‌الثانی ۱۴۴۳ | Jan 20, 2022
آیت الله علیرضا اعرافی

हौज़ा/ईरानी दीनी मदारिस के प्रमुख हुज्जतुल इस्लाम आयतुल्लाह अली रज़ा आराफी ने एक बयान में अफगानिस्तान में जुमआ की नमाज़ के दौरान आतंकवादी हमले की कड़ी निंदा की हैँ।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार ,हौज़ाये इल्मिया के अध्यक्ष के निंदा वक्तव्य का विस्तृत पाठ इस प्रकार है।
بسم الله الرحمن الرحیم 
وَمَن یَقْتُلْ مُؤْمِنًا مُّتَعَمِّدًا فَجَزَآؤُهُۥ جَهَنَّمُ خَٰلِدًا فِیهَا وَغَضِبَ ٱللَّهُ عَلَیْهِ وَلَعَنَهُۥ وَأَعَدَّ لَهُۥ عَذَابًا عَظِیما
मिलादुन्नबी और हफ्ते वहदते मुस्लिमीन के मौके पर
कुंदुज़ त्रासदी के तुरंत बाद कंधार में जुमे की नमाज़ के दौरान बड़ी संख्या में उत्पीड़ित शिया मुसलमानों की शहादत और घायल होने की दुखद त्रासदी,
एक बार फिर, इसने दुनिया के मुसलमानों, महान मुज्तहिदों, विद्वानों और मदरसों में आक्रोश पैदा किया है।
इस दुख:द समय के अवसर पर, मैं उलेमा, मदरसों और शहीदों और घायलों के परिवारों सहित अफगानिस्तान के सम्माननीय, बहादुर और उत्पीड़ित लोगों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं।
अफगान अधिकारियों और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से इन आतंकवादी की जल्द से जल्द जांच करने और अपराधियों की पहचान करने और उन पर मुकदमा चलाने का आग्रह करता हूं।
यह बात सुनिश्चित हैं, अहंकार, कब्जा करने वाले और चरमपंथी समूह इस्लामी दुनिया में मुसलमानों के नरसंहार और विस्थापन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, विशेष रूप से अफगानिस्तान के उत्पीड़ित लोगों के लिए उनको बार-बार प्रताड़ित किया जाता है और उनके ऊपर बराबर जुल्म हो रहा है।
अफगानिस्तान के पुनर्निर्माण और लोगों को सुरक्षा प्रदान करने के लिए सभी राष्ट्रों, धर्मों और लोगों के स्तर पर चुनावों के आधार पर वास्तविक राजनीतिक दलों की भागीदारी। और लोगों को पूरी तरीके से सुरक्षा दिया जाए और उसके साथ इंसान किया जाए
हम उम्माते मुस्लिमा के तमाम शोहदा और और जो जो इस हमले में शहीद हुए हैं जख्मी हुए हैं अल्लाह तआला से दुआ करते हैं ज़्खमियों को सेहत और सलामती अता फरमाए और अल्लाह तआला मरहूमीन के दरजात को बुलंद फरमाएं और उनके परिवार वालों को सुख और शांति अता करें
अली रज़ा आराफी
अध्यक्ष हौज़ाये इल्मिया कुम

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
7 + 5 =