۳۱ اردیبهشت ۱۴۰۱ |۱۹ شوال ۱۴۴۳ | May 21, 2022
अफगानिस्तान

हौज़ा/तालिबान सरकार को शिया मुसलमानों के नरसंहार को रोकने के लिए तत्काल और गंभीर कदम उठाने चाहिए।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार , श्रीनगर/ अफगानिस्तान एक बार फिर लहू लहू!
अफगानिस्तान के शिया मज़लूम एक बार फिर अबू लहबी आतंकियों के निशाने पर मस्जिदे फातिमा  पर हुए आत्मघाती हमले में अब तक 30 शिया नमाज़ी शहीद हुए
गौरतलब है कि पिछले शुक्रवार को भी शिया मज़लूमों पर बम धमाके हुए थे जिनमें 150 नमाज़ी शहीद हुए थे
उरवतुल उसक़ा वेलफेयर ट्रस्ट, जम्मू-कश्मीर के अध्यक्ष सैय्यद लियाकत मंजूर मूसवी ने कहा: कि अफगानिस्तान के कंधार में शिया मुसलमानों का नरसंहार असहनीय हैं।
उन्होंने अपना आक्रोश व्यक्त किया और आतंकवाद की ऐसी घटनाओं को अस्वीकार्य करार दिया और कहां यह याज़ीदी है इन को जवाब देने हम जानते हैं।
इनको यह याद रखना चाहिए मस्जिदे कुफा आज भी नमाज़ियों से खचाखच भरा रहता है जहां से दहशतगर्दी के आका ने दहशतगर्दी का आगाज़ किया था आज वहां हुसैनी फिक्र के लोग पाए जाते हैं यज़ीयद का नामोनिशान मिट गया
तालिबान सरकार को शिया मुसलमानों के नरसंहार को रोकने के लिए तत्काल और गंभीर कदम उठाने चाहिए

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
2 + 1 =