۲۲ مرداد ۱۴۰۱ |۱۵ محرم ۱۴۴۴ | Aug 13, 2022
مولانا سید قمر عباس

हौज़ा/हज़रत रसूल अल्लाह स.ल.व.व. की ज़ाते मुकद्देसा से करीबी हासिल करके गुमराहीयों जिहालतों और परेशानियों से छुटकारा पाने का मात्र एक उपाय है।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार ,हज़रत रसूल अल्लाह स.ल.व.व. की ज़ाते मुकद्देसा से करीबी हासिल करके गुमराहीयों
जिहालतों और परेशानियों से छुटकारा पाने का मात्र एक उपाय है। मिल्लते इस्लामिया हज़रत रसूल  अल्लाह स.ल.व.व.की विलादत पर पैगंबर की जिंदगी के बारे में बयान करते हुए उनकी खुसूसियत को भी पेश करें, सेमिनार और जलसा करें
पैगंबर के संदेश को सोशल मीडिया के माध्यम से फैलाएं। हुज़ूर की आवास पर करते हुए अपनी आवाज मिला दे! क्योंकि यही हमारा जीवन है।
इन हकीकतों का इज़हार दिल्ली आज़ादारी चैनल पर टेलीकास्ट किया गया हफ्तये वहदत में शुरुआती तकरीर मौलाना सैय्यद कमर अब्बास ने कि रसूले पाक की जिंदगी के बारे में बयान करते हुए उनके खुसूसियत भी लोगों के सामने पेश किए और इन दिनों को हफ्तये वहदत के नाम से पहचान कराई हज़रत इमाम खुमैनी र.ह. ने इस काम की शुरुआत की थी आज सारी दुनिया में वहदत के परचम बुलंद हो रहे हैं,


हज़रत इमाम खुमैनी र.ह.ने 12से 17 रबीउल अव्वाल को हफ्तये वहदत का नाम देकर एक नए मिशन की शुरुआत की है, इस प्रोग्राम में हिंदुस्तान के मशहूर उलेमा ने अपनी तकरीर की और अपने नज़रिया को बयान किया

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
1 + 6 =