۱ خرداد ۱۴۰۱ |۲۰ شوال ۱۴۴۳ | May 22, 2022
مولانا سید حسین مہدی حسینی

हौज़ा/ एकता सप्ताह ने दुश्मन की कमर तोड़ दी है, आलमे इस्लाम की हैसियत एक जिस्म की है, और आलम में इस्लाम का इत्तेहादी नुक्ता कुरान है, कलमा है, काबा है ,और पैगंबर हैं, जब यह सारी चीजें ।सबकी एक है तो इसी की बुनियाद पर सबको एक पॉइंट पर जमा हो जाना चाहिए

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार , मजलिसे उलमाये हिन्द के  अध्यक्ष और जामेअतुल अमीरुल मोमेनीन अलैहिस्सलाम मुंबई  के अध्यापक मौलाना सैय्यद हुसैन मेंहदी हुसैनी ने अपने एक बयान में इत्तेहाद बैनुल मुस्लिमीन पर इस्लामी क्रांति के संस्थापक इमाम खुमैनी र.ह. और इस्लामी क्रांति के नेता आयातुल्लाह खमेनीई की स्थिति पर रोशानी डालते हुए उन्होंने कहा कि इस समय इस्लाम का सबसे बड़ा दुश्मन संयुक्त राज्य अमेरिका और इज़राइल है।
इस एकता सप्ताह ने साम्राज्यवादी साजिशों को विफल कर दिया है, लिहाज़ा मुसलमानों को एकता सप्ताह पर ज़ोर देना चाहिए
एकता सप्ताह ने दुश्मन की कमर तोड़ दी है, आलमे इस्लाम की हैसियत एक जिस्म की है, और आलम में इस्लाम का इत्तेहादी नुक्ता कुरान है, कलमा है, काबा है ,और नवीये पैगंबर हैं, जब यह सारी चीजें
सबकी एक है तो इसी की बुनियाद पर सबको एक पॉइंट पर जमा हो जाना चाहिए
उन्होंने कहा कि ईरान की इस्लामी क्रांति के नेता ने इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए एकता सप्ताह मनाने पर जोर दिया है, तमाम दुश्मनी को दूर रखकर एक होने पर ज़ोर दिया है।
और यही कारण है कि आज इस्लामिक दुनिया में अज्ञानी लोग एकता सप्ताह का विरोध करते हैं, लेकिन जिनके मन में थोड़ी सी भी जागरूकता और विवेक है।
उन्होंने कहा कि यह एक अजीब और दर्दनाक मुद्दा है कि इस्लामी दुनिया के शासकों ने अपना विवेक खो दिया है।और वे अमेरिका और इस्राइल की बाहों में जाकर अपने देश की महिमा और अपने देश की गरिमा को नष्ट कर रहे हैं।
अभी भी समय है और इसका फायदा उठाकर इस्लामी जगत के शासकों को एक मजबूत और स्थिर दीवार बनकर दुश्मन से लड़ना चाहिए। इसलिए कि कुरान मजीद ने वादा किया है कि हम तुम को बुलंद करेंगे और वह दिन दूर नहीं है,कि कि जब इसको दानिश्वर लोग सभा,लेंगे और इसकी बुनियाद को मजबूत करेंगे

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
9 + 5 =