۵ تیر ۱۴۰۱ |۲۶ ذیقعدهٔ ۱۴۴۳ | Jun 26, 2022
آیت الله محمدتقی مدرسی از علمای عراق

हौज़ा/ मशहूर इराकी आलमे दीन हज़रत अयातुल्ला सैय्यद मुहम्मद तकी मुदर्रेसी ने एक बयान में अफगान लोगों के प्रति सहानुभूति का इज़हार करते हुए अपने हमवतन लोगों की मदद के लिए मिलकर काम करने का आह्वान किया हैं।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार ,मशहूर इराकी आलमे दीन हज़रत अयातुल्ला सैय्यद मुहम्मद तकी मुदर्रासी ने एक बयान में अफगान लोगों के प्रति सहानुभूति का इज़हार करते हुए अपने हमवतन लोगों की मदद के लिए मिलकर काम करने का आह्वान किया हैं।
इस कथन का पाठ इस प्रकार है:
بسم الله الرحمن الرحیم
(إِنَّ الَّذِینَ قَالُوا رَبُّنَا اللَّهُ ثُمَّ اسْتَقَامُوا تَتَنَزَّلُ عَلَیْهِمُ الْمَلَائِکَةُ أَلَّا تَخَافُوا وَلَا تَحْزَنُوا وَأَبْشِرُوا بِالْجَنَّةِ الَّتِی کُنْتُمْ تُوعَدُونَ)
صدق الله العلی العظیم
खुदा का सलाम हुआ अफगानिस्तान के
इज्ज़तदार और साबिर कौम पर!
अफगानिस्तान की बहादुर कौम ईश्वर आज आपकी परीक्षा ले रहा है और सर्वशक्तिमान ईश्वर की सहायता से और दुआ से, विश्वास, धैर्य और सहनशीलता के साथ, ईश्वर की इच्छा से, आप इस कठिन दौर से गुज़र जाएंगे
अच्छा है कि हज़रत इमामें ज़माना अ.स. कि पनाह, उलिमा इकराम के नेतृत्व में और एकजुटता, सहानुभूति और एक दूसरे के सहयोग से कमियों को दूर करने और अपने हमवतन की मदद करने के लिए लोगों की मदद के लिए मिलकर काम करने का आह्वान किया हैं।
पहले चरण में आप उन नए प्रवासियों की मदद करें जो आज अपने देश से पलायन कर रहे हैं।आप भी इन प्रवासियों की तरह प्रवास के कड़वे हालात से गुज़रे हैं।क्या आपने इन कड़वाहटों का अनुभव किया है, याद रखें कि आपको अपने चेहरे पर मुस्कान के साथ अप्रवासियों को आश्रय देना चाहिए ताकि उनका दर्द और पीड़ा कम हो सके।

अफगानिस्तान में हर मनुष्य को अपनी ताकत के मुताबिक अपने देशवासियों की हर संभव मदद करनी चाहिए
अल्लाह तआला से मैं दुआ करता हूं कि अल्लाह तआला सबकी मदद फरमाए और उनके जान-माल और इज्ज़त और आबरू की हिफाज़त करें
सैय्यद मुहम्मद तकी मुदर्रासी
इराक

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
1 + 1 =