۱۱ تیر ۱۴۰۱ |۲ ذیحجهٔ ۱۴۴۳ | Jul 2, 2022
علماء

हौज़ा/शिया उलेमा बोर्ड उत्तर प्रदेश की मांग मलऊन वसीम रिजवी के ज़रिए पैगंबर इस्लाम स.ल.व.व की शान में अपमान और तौहिन करने वाली पुस्तक के लेखन की कड़े शब्दों में निंदा करते है,और मुसलमानों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाले मलऊन वसीम की तत्काल गिरफ्तारी की मांग करते है।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार , गाजियाबाद/शिया उलेमा बोर्ड उत्तर प्रदेश की मांग मलऊन वसीम रिजवी के ज़रिए पैगंबर इस्लाम स.ल.व.व की शान में अपमान और तौहिन करने वाली पुस्तक के लेखन की कड़े शब्दों में निंदा करते है,और मुसलमानों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाले मलऊन वसीम की तत्काल गिरफ्तारी की मांग करते है।
बोर्ड के सदस्यों ने एक बयान जारी कर कहा कि वसीम मलऊन कुरान पाक को लेकर पहले ही अपमानजनक बयान दे चुके हैं लेकिन उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई, इसलिए अब उन्होंने पवित्र पैगंबर (स.ल.व.व.) का अपमान किया है,
शिया बोर्ड ने देश में अराजकता और अशांति का माहौल पैदा करने वाले और देश के मुसलमानों को लगातार चोट पहुंचाने वाले  मलऊन वसीम को राष्ट्रविरोधी तत्वों का हथियार करार दिया हैं।

शिया उलेमा बोर्ड ने सरकार से वसीम रुश्दी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का मांग करते हुए कहा है, कि वसीम जैसे लोग कभी किसी सरकार के प्रति वफादार नहीं रहे है।
हर युग में यह व्यक्ति सरकार में अपना हित साधने के लिए धोखेबाजों की तरह रंग बदलता रहा है,


वही खेल मौजूदा सरकार के साथ खेल रहा है। इसलिए हम मांग करते हैं कि इस गुस्ताखे नबी और गुस्ताखे कुरान को कड़ी से कड़ी सजा दी जाए।


इस बयान में उलेमा का समर्थन जारी हैं।मौलाना सैय्यद मुहम्मद अतहर काज़मी, मौलाना सैय्यद रेहान हैदर जै़दी, मौलाना सैय्यद मोहसिन अब्बास जै़दी, मौलाना सैय्यद ज़िया अब्बास जै़दी, मौलाना जनान असगर मौलई, मौलाना मिर्ज़ा इमरान अली, मौलाना फ़िरोज़ मेहदी मुजफ्फरनगर, मौलाना हामिद हसन, मौलाना जलाल हैदर नक़वी, सैय्यद हुसैन अख्तर जै़दी, सैय्यद अली गाजी बिजनैर, मौलाना मिर्जा अज़हर अब्बास, मौलाना सरकार मेहदी जै़दी, मौलाना सैय्यद आज़ाद हुसैन, मौलाना सैय्यद कमर सुल्तान सैय्यद तफाखुर अली गाजियाबादी शामिल थे,

 

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
5 + 1 =