۱۱ تیر ۱۴۰۱ |۲ ذیحجهٔ ۱۴۴۳ | Jul 2, 2022
Dubei

हौज़ा/इज़रायल को मान्यता देने के बाद संयुक्त अरब अमीरात के शासक ने आले साउद जैसे शरियाते मोहम्मदी के दमन को दागदार कर रहे हैं, 1 जनवरी 2022 से संयुक्त अरब अमीरात ने शादी से पहले सेक्स को जायज़ करार दिया और इसे कानूनी रूप दे दिया गया है।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार ,इज़रायल को मान्यता देने के बाद संयुक्त अरब अमीरात के शासक ने आले साउद जैसे शरियाते मोहम्मदी के दमन को दागदार कर रहे हैं,
1 जनवरी 2022 से संयुक्त अरब अमीरात ने शादी से पहले सेक्स को जायज़ करार दिया और इसे कानूनी रूप दे दिया गया है।
सूचना के अनुसार यूएई ने देश में सुधार सहित 40 कानूनों में अपराधों की सूची से इसे हटाया है।
शादी से पहले सेक्स भी अपराधों की सूची से हटा दिया गया है और इसे कानूनी सुरक्षा दी गई है।


यूएई कानून में नरमी कि है जैसे शादी से पहले सेक्स करना शराब पीना गैरत के नाम पर हत्या करना, इन्हीं जैसे बहुत से कानूनों में नरमी की गई है।कुल 40 कानूनों में ढील दी गई है, जिनका ब्यौरा धीरे-धीरे आने जा रहा है।
अरब अमीरात सरकारी मीडिया द्वारा एक बयान जारी किया गया है जिसमें यह कहा गया है कि जो
जोड़े शादी से पहले सेक्स करें और जो बच्चा पैदा होने वाले बच्चों को कानूनी दर्जा देने के लिए तुरंत शादी करनी चाहिए।
बयान में यह चेतावनी दी गई है कि यदि माता-पिता बच्चे की देखभाल नहीं करते हैं, तो उन पर दो साल की सजा सुनाई जाएगी और वह जेल में रहेंगे,


यह ध्यान देने की बात है कि यूए के कानूनों में सऊदी आधुनिकतावाद का विरोध करने, विदेशी पर्यटकों को सुविधाएं उपलब्ध कराने और अधिकतम विदेशी मुद्रा प्राप्त करने के लिए इस्लामी और शरियत के विरुद्ध ये परिवर्तन किए जा रहा हैं.
अमीरात शासक पोर्नोग्राफी को बढ़ावा देकर दुनिया का ध्यान आकर्षित करना चाहता है ताकि अमेरिका जाने के बजाय , दुबई और अबू धाबी को
जाएं और इसके द्वारा अधिक से अधिक पूंजी प्राप्त की जाए
गौरतलब बात यह है कि कुछ दिन पहले संयुक्त अरब आमिरात में इज़राइल का पहला राजदूत तैनात किया गया है।

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
7 + 9 =