۲۹ اردیبهشت ۱۴۰۱ |۱۷ شوال ۱۴۴۳ | May 19, 2022
راحم

हौज़ा/ हुज्जतुल इस्लाम मौलाना सैय्यद राहिम सहाब को फखरुद्दीन अली अहमद कमेंटी उत्तर प्रदेश द्वारा पदम भूषण डॉक्टर कल्बे सादिक नकवी अवार्ड के लिए चुना गया

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार , बाराबंकी उत्तर प्रदेश, हुज्जतुल इस्लाम मौलाना सैय्यद राहिम सहाब को फखरुद्दीन अली अहमद कमेंटी उत्तर प्रदेश द्वारा पदम भूषण डॉक्टर कल्बे सादिक नकवी अवार्ड के लिए चुना गया।

हुज्जतुल इस्लाम मौलाना सैय्यद राहिम सहाब ने प्रारम्भिक शिक्षा अपने वतन बाराबंकी में हासिल की उसके बाद उच्च धार्मिक शिक्षा के लिए लखनऊ का सफर किया और जमिया इमामिया तंज़ीमुल मकातिब 2002 से 2009 तक वहां से शिक्षा हासिल की और वहां से डिग्री हासिल करने के बाद लखनऊ यूनिवर्सिटी से बी.ए और एम.ए करने के बाद वहीं से फारसी में पी.एच.डी में एडमिशन लिया साथ साथ दीनी तालीम का भी सिलसिला जारी रहा।

अपनी शिक्षा को बाकी रखते हुए मौलाना ने ईरान की तरफ सफर किया और जामिआतुल मुस्तफा में शिक्षा का दौर जारी रखा, 2019 में पी.एच.डी जमा करने के इरादे से हिंदुस्तान आ गए और फरवरी 2021 में अपने अनुसंधान,, तारीख नवीसी दर फारसी,, को प्रोफ़ेसर उम्र कमालुद्दीन साहब की निगरानी में पूरा करके जमा किया। और इसी साल फखरुद्दीन अली अहमद कमेंटी उत्तर प्रदेश द्वारा पदम भूषण डॉक्टर कल्बे सादिक नकवी अवार्ड के लिए चुना गया।

फखरुद्दीन अली अहमद कमेटी उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से उर्दू ,फारसी और अरबी में बी.ए और एम.ए में अपने यूनिवर्सिटी में विशिष्ट संख्या प्राप्तकर्ताओं को पुरस्कार और छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है।
इसके अलावा इन भाषा में पी.एच.डी करने वाले रिसर्च स्कॉलर को पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है।


मौलाना सैय्यद राहिम सहाब वो भी गोल्ड मेडल और प्रमाण पत्र प्रदान किया गया, इनकी बेहतरीन परफॉर्मेंस की वजह से इन्होंने कैम का और अपने क्षेत्र का नाम रोशन किया,

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
9 + 6 =