۲۸ مرداد ۱۴۰۱ |۲۱ محرم ۱۴۴۴ | Aug 19, 2022
بندر عباس

हौज़ा/ईरान के हुर्मुज़गान प्रांत में मदरसे इल्मियां के अध्यापक ने कहा, गुनाहों से तौबा बहुत सारी रूहानी बीमारियों की दवा के तौर पर होती है।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार , हुज्जतुल इस्लाम महमूद बक्ताशीयान मेहंदवी ने शहरे बंदर अब्बास में मदरसे इल्मिया नवी स.ल.व.व. ने एक एक प्रोग्राम में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि हकिकी तौबा इंसान के लिए दुनिया और आखिरत में समृद्धि की दिशा में सच्चा पश्चाताप का रास्ता है।
हुज्जतुल इस्लाम महमूद बक्ताशीयान मेहंदवी ने कहां,अहलेबैत अ.स. तवस्सुल एक आदी बात होना चाहिए।


उन्होंने ने हज़रत रसूल आल्लाह स.ल.व.व. का फरमान,
"أنَا مَدینَةُ العِلمِ وعَلِیٌّ بابُها،،
नकल करते हुए कहा:हज़रत रसूल आल्लाह स.ल.व.व. ने फरमाया हैं,कि मैं इल्म का शहर हूं और अली उसका दरवाजा,, तो बस अब हज़रत अली अलैहिस्सलाम की तरफ देखने से मुराद,


हज़रत रसूल आल्लाह स.ल.व.व. की तरफ तवज्जोंह करना है और तमाम कामों में विलायत के बाब औरदरवाजे से दाखिल होना है।

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
5 + 1 =