۳۰ اردیبهشت ۱۴۰۱ |۱۸ شوال ۱۴۴۳ | May 20, 2022
علامہ

हौज़ा / अल्लामा शेख़ सादिक अच्छे अखलाक के मालिक थे, उन्होंने कौम और मिल्लत के लिए भरपूर मेहनत की और मेहनत को अपना फरीज़ा समझते थे,बाल्तिस्तान ने एक महान विद्वान को खो दिया हैं।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार ,अल्लामा शेख़ सादिक नजफी इमामे जुमआ वल जमाअत और शरिया विभाग के संरक्षक ने परिवार और शोक संतप्त लोगों की सेवा में संवेदना व्यक्त की हैं।


ओलमा कौंसिल के पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि, एक आलिम की मौत एक दुनिया की मौत है। आलिम की मौत से पैदा होने वाली खाली जगह उसको कोई पुरा नहीं कर सकता,
उन्होंने आगे कहा कि शेख़ सादीक एक बेहतरीन अखलाक के मालिक थे,


उन्होंने कौम और मिल्लत के लिए भरपूर मेहनत की और मेहनत को अपना फरीज़ा समझते थे,बाल्तिस्तान ने एक महान विद्वान को खो दिया हैं।
उन्होंने आगे कहा कि अल्लामा शेख सादिक नजफी विनम्र और नैतिकता के व्यक्ति थे। दोस्तों और दुश्मनों के साथ नैतिकता का व्यवहार किया करते थें,


क्योंकि वे खुद को नबियों के उत्तराधिकारी मानते थे। उन्होंने हर मसले को कुरान और सुन्नत की रोशनी में हल करते थे, और हमेशा उनकी कोशिश रहती थी कि राष्ट्र में सुख चैन शांति बरकरार रहे,
उन्होंने कहा कि अल्लामा शेख सादिक नजफी अल्लामा शेख आरिफ हुसैन हुसैनी जैसे के अध्यापक थे,
अल्लाह तआला से दुआ करते हैं कि मरहूम की मगफिरत फरमाए उनके दर जात को बुलंद करें और परिवार वालों को सब्र अता करें¡

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
4 + 5 =