۳۱ اردیبهشت ۱۴۰۱ |۱۹ شوال ۱۴۴۳ | May 21, 2022
सउदी

हौज़ा/मानवाधिकार संगठन के बारे में क़िस्त,, नामी कार्यालय में खबर दी है,कि सउदी अरब के एक मशहूर राइटर और शोधकर्ता ,अब्दुल यय्हा,को इसराइल के खिलाफ ट्वीट करने के जुर्म में गिरफ्तार कर लिया गया है।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार ,मानवाधिकार संगठन के बारे में क़िस्त,, नामी कार्यालय में खबर दी है,कि सउदी अरब के एक मशहूर राइटर और शोधकर्ता ,अब्दुल यय्हा,को इसराइल के खिलाफ ट्वीट करने के जुर्म में गिरफ्तार कर लिया गया है।
है।

सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान सामाजिक कार्यकर्ताओं और मानवाधिकार रक्षकों को बिना किसी आरोप के उन को प्रताड़ित करते रहे और उनको को गिरफ्तार करते रहे है।

यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि मुहम्मद बिन सलमान ने सामाजिक कार्यकर्ताओं के जीवन काल को प्रतिबंधित कर दिया है जो इजरायल के खिलाफ कुछ बोलते हैं या लिखते हैं या उनका विरोध करते हैं।

मानवाधिकार संगठन के बारे में क़िस्त,, नामी कार्यालय ने अपने ट्विटर के पेज पर लिखा है कि सऊदी अधिकारियों ने देश के प्रमुख लेखक और शोधकर्ता अब्दुल यय्हा इजरायल के साथ संबंधों को सामान्य करने के उपायों की आलोचना करने का आरोप लगाया था। और फिर उनको गिरफ्तार कर लिया गया,
अब्दुल यय्हा ने अपने ट्विटर में लिखा था कि एक इजरायली कमांडर ने ज़ायोनी समाज की कमज़ोरी को स्वीकार किया था।
यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि सऊदी सरकार के मुहम्मद बिन सलमान के आने के बाद से राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ हिंसा बढ़ गई है। कुछ को जेल में डाल दिया गया है और कुछ को मौत की सजा सुनाई गई है।

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
2 + 13 =