۲۲ مرداد ۱۴۰۱ |۱۵ محرم ۱۴۴۴ | Aug 13, 2022
फिलीसतीन

हौज़ा / इज़रायली सैनिकों का कहना है कि हमलावरों ने फिलिस्तीनियों को गिरफ्तार करने के बजाय सीधे गोली मार दी। इस तरह फ़िलिस्तीनियों को इज़रायली सैनिकों द्वारा मारा जा रहा है।लेकिन इस बार बाज़ी उलट गई,और सैनिकों ने यह सोचकर कि वे फिलिस्तीनी हैं, अपने ही युवा अधिकारियों को गोली मार दी।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार ,फिलीस्तीनियों को देखते ही इज़राइल सैनिकों का आपा खो जाता है। सैनिकों ने अपने ही दो अधिकारियों को एक फिलीस्तीनी हमलावर के रूप में गोली मार दी।
यह घटना बुधवार रात को इजरायल के कब्जे वाले पश्चिमी बैंक में सैन्य अड्डे के पास हुए था इज़रायली सेना के अधिकारी जिनकी हत्या कर दी थी उन्हें 28 वर्ष की आयु वाले मेजर ओफेक अहरोन और 26 वर्ष की आयु के अल हेरार के रूप में चिन्हित किया गया हैं।

यरूशलम रिपोर्ट के अनुसार,दोनों अधिकारी मुसा के फायरिंग क्षेत्र में सैन्य कार्रवाई को समाप्त करके और यह सोच कर कि वे एक फिलीस्तीनी हमलावर हैं, जैसा कि उन्होंने कमांडो ने गोली मार दी।

इज़रायली सैनिकों का कहना है कि हमलावरों ने फिलिस्तीनियों को गिरफ्तार करने के बजाय सीधे गोली मार दी। इस तरह फ़िलिस्तीनियों को इज़रायली सैनिकों द्वारा मारा जा रहा है।लेकिन इस बार बाज़ी उलट गई,और सैनिकों ने यह सोचकर कि वे फिलिस्तीनी हैं, अपने ही युवा अधिकारियों को गोली मार दी।

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
2 + 1 =