۱۶ تیر ۱۴۰۱ |۷ ذیحجهٔ ۱۴۴۳ | Jul 7, 2022
امام

हौज़ा/हुज्जतुल इस्लाम वलमुस्लेमीन सैय्यद सदरुद्दीन कबांची ने जुमआ की नमाज़ के दौरान कहा कि,इराकी राजनीतिक दलों के बीच एकता और एकजुटता की बहुत ज्यादा ज़रूरत है।और कहा कि इत्तेहादुल मुस्लिमीन का अवसर है और इस अवसर को हाथ से ना जाने दें!

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार ,हुज्जतुल इस्लाम वलमुस्लेमीन सैय्यद सदरुद्दीन कबांची ने जुमआ की नमाज़ के दौरान कहा कि,इराकी राजनीतिक दलों के बीच एकता और एकजुटता की बहुत ज्यादा ज़रूरत है।और कहा कि इत्तेहादुल मुस्लिमीन का अवसर है और इस अवसर को हाथ से ना जाने दें!
उन्होंने राजनीतिक दलों के नेताओं से अनुरोध किया है कि चर्चाओं के दौरान एकता और प्रेम की भाषा का प्रयोग करें और कहा कि एकता और एकता देश को संकट से बचा सकती है।
इमामें जुमआ नजफ अशरफ ने यह बयान करते हुए कहा कि दुश्मन इस मौके की तलाश में है, कहा कि जो लोग अवैध इजरायल सरकार के साथ संबंध सामान्य करने का प्रयास कर रहे हैं वे इराक की संप्रभुता को नष्ट करने के अवसर तलाश रहे हैं।

हुज्जतुल इस्लाम वलमुस्लेमीन सैय्यद सदरुद्दीन कबांची ने इस बात की तरफ ज़ोर देकर कहा कि लोग प्रतिनिधि सभा की बैठक के नतीजे का इंतजार कर रहे हैं, जिसमें शियाओं, सुन्नियों, कुर्दों और अन्य अल्पसंख्यकों को एकजुट रहने का आह्वान किया गया हैं।

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
2 + 1 =