۱ خرداد ۱۴۰۱ |۲۰ شوال ۱۴۴۳ | May 22, 2022
मौलाना

हौज़ा/इराक की सुप्रीम इस्लामिक असेंबली के प्रमुख, शेख़ हामुदी ने यमन के खिलाफ सऊदी सहयोगियों की चल रही आक्रामकता और नरसंहार की कड़ी निंदा की है।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार ,इराकी सुप्रीम इस्लामी असेंबली के प्रमुख हमाम हामुदी ने अपने एक बयान में यमन के खिलाफ
सऊदी सहयोगियों की चल रही आक्रामकता और नरसंहार की कड़ी निंदा करते हुए कहा,की और स्वतंत्र विश्व शक्तियों से मांग की कि उत्पीड़ित यमनी समर्थन और उसकी मदद करें।


उन्होंने कहा कि यमनी कौम पर आक्रमण, युद्ध अपराध, घेराबंदी और नागरिकों को सीधे निशाना बनाना बेहद खेदजनक और निंदनीय है और इन अवैध अपराधों के कारण हजारों नागरिकों की शहादत हुई है और सार्वजनिक संपत्ति का विनाश हुआ है।

शेख़ हामुदी ने इस बात पर ज़ोर देते हुए कहा कि हम यामिनी लोगों के साथ मज़हबी,और मानवतावाद के आधार पर यमनी लोगों के साथ खड़े हैं, शेख़ हामुदी ने कहा: कि यमन के खिलाफ जारी अवैध आक्रमण के सामने अंतरराष्ट्रीय समुदाय और अंतरराष्ट्रीय समितियों की चुप्पी आश्चर्यजनक हैं।


इराकी सर्वोच्च इस्लामी विधानसभा के अध्यक्ष ने यमनी लोगों के प्रतिरोध और अपनी भूमि पर शासन करने के अधिकार पर विश्वास करने के उनके प्रतिरोध के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए यमनी लोगों की मदद करने और इस आक्रामकता की निंदा करने के लिए स्वतंत्र विश्व शक्तियों की मांग की हैं।

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
4 + 2 =