۱۶ تیر ۱۴۰۱ |۷ ذیحجهٔ ۱۴۴۳ | Jul 7, 2022
महफिल

हौज़ा/ महफिल में बज़्मों अदब के सदस्य के अलावा लद्दाख और लद्दाख के बाहर कई शोआरा और लेखकों, विद्वानों ने इस प्रोग्राम में भाग लिया,

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार , करगिल,
बज़्मों अदब IKMT कारगिल लद्दाख भारत के 73वें गणतंत्र दिवस के मौके पर एक ऑनलाइन मुशायरे का आयोजन किया गया जिसमें अधिक संख्या में कवियों ने शिरकत की,
कोविड-19 के मद्देनजर वर्चुअल स्पेस के ज़रिए यह मुशायेरा कराया गया। इस मुशायेरे में कारगिल के कवियों ने भाग लिया।


बज़्मों अदब के वाइस चेयरमैन जनाब मोहम्मद अली नौशीन के अलावा मशहूर कसीदा पढ़ने वाले जनाब गुलाम कादिर,श्री मुर्तजा शादाब, श्री हाजी अली बाबा, श्री मुहम्मद हुसैन रहनुमा, श्री हादी बलती और प्रसिद्ध कवियों ने स्थानीय भाषाओं के अलावा उर्दू भाषा में सुंदर कविताएं प्रस्तुत कीं।

इस प्रोग्राम की सदारत जनाब मुहम्मद अली नौशिन ने की, जबकि प्रसिद्ध कवि,श्री मुख्तार ज़ाहिद ने अपने अलग अंदाज में कविताएं पढ़ी, इस महफिल में बज़्मों अदब के सदस्य के अलावा लद्दाख और लद्दाख के बाहर कई शोआरा और लेखकों, विद्वानों ने इस प्रोग्राम में भाग लिया,

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
5 + 8 =