۶ تیر ۱۴۰۱ |۲۷ ذیقعدهٔ ۱۴۴۳ | Jun 27, 2022
करगिल

हौज़ा/सऊदी ज़ालिम ताकतों को यह समझ लेना चाहिए कि यह जनाबे मिसन के गुलाम हैं, यह ज़ालिम और अत्याचारी हुकूमत के सामने झुकने वाले नहीं हैं चाहे वह जिस तरह के भी हथकंडे अपनाए

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार ,अंजुमने साहेबुज़ ज़मान अ.स. करगिल ने अपना निंदनीय बयान जारी करते हुए कहा कि इस्लाम विरोधी ताकतों की कठपुतली सऊदी सरकार ने अपनी आक्रामकता जारी रखते हुए एक बार फिर 40 शियाओं सहित 80 निर्दोष लोगों को मार डाला। जिसमें 40 शिया नौजवान थें, एक बार फिर सऊदी अरब ने अपनी दुश्मनी का प्रमाण दिया हैं।

अंजुमने साहेबुज़ ज़मान अ.स. करगिल ने सऊदी हुकूमत की कड़े शब्दों में निंदा करते हैं, और हम अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संगठनों की चुप्पी पर सवाल उठाते हैं और मांग करते हैं कि वे दमनकारी सऊदी सरकार पर बोलने वालों को मारने की प्रथा को समाप्त करने के लिए दबाव डालें। सऊदी अरब में सरकार के गलत कामों के खिलाफ आवाज उठाएं।

सऊदी ज़ालिम ताकतों को यह समझ लेना चाहिए कि यह जनाबे मिसन के गुलाम हैं, यह ज़ालिम और अत्याचारी हुकूमत के सामने झुकने वाले नहीं हैं चाहे वह जिस तरह के भी हथकंडे अपनाए,अंत में अल्लाह तआला से दुआ करते हैं कि इन बेगुनाह शहीदों की मगफिरत फरमाए और परिवार वालों को सब्र अता करें,

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
9 + 1 =