۲۸ مرداد ۱۴۰۱ |۲۱ محرم ۱۴۴۴ | Aug 19, 2022
हसनी

हौज़ा/इस्लामी क्रांति के सुप्रीम लीडर आयतुल्लाहिल उज़मा सैय्यद अली ख़ामेनेई ने एक हुक्म जारी कर हुज्जतुल इस्लाम क़ाज़ी असकर को हज़रत शाह अब्दुल अज़ीम हसनी के पवित्र रौज़े, इससे संबंधित दूसरे पवित्र स्थलों और दूसरी संबंधित चीज़ों का मुतवल्ली नियुक्त किए

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार ,इस्लामी क्रांति के सुप्रीम लीडर आयतुल्लाहिल उज़मा सैय्यद अली ख़ामेनेई ने एक हुक्म जारी कर हुज्जतुल इस्लाम क़ाज़ी असकर को हज़रत शाह अब्दुल अज़ीम हसनी के पवित्र रौज़े, इससे संबंधित दूसरे पवित्र स्थलों और दूसरी संबंधित चीज़ों का मुतवल्ली नियुक्त किए
सुप्रीम लीडर का आदेश इस तरह हैः
बिस्मिल्लाहिर्रहमानिर्रहीम
जनाब हुज्जतुल इस्लाम अलहाज सैय्यद अली क़ाज़ी असकर दामा ज़िल्लोह,

हज़रत अब्दुल अज़ीम सलामुल्लाह अलैह के रौज़े के मरहूम मुतवल्ली जनाब हुज्जतुल इस्लाम मोहम्मद रय शहरी के लिए अल्लाह से रहमत व मग़फ़ेरत तलब करते हुए, जिन्होंने हक़ीक़त में इस ओहदे पर काम करते हुए, यादगार और क़ीमती सेवाएं अंजाम दीं, आपको इस पवित्र रौज़े, इससे संबंधित दूसरे पवित्र स्थलों और दूसरी संबंधित चीज़ों का मुतवल्ली नियुक्त करता हूं।

इस पवित्र रौज़े की तरक़्क़ी का सिलसिला जारी रखना, ज़ियारत करने वालों के लिए सहूलतों पर ध्यान, इस रौज़े में अध्यात्मिक माहौल का विस्तार, शहरे रय के प्रिय अवाम के अधिकारों की रक्षा, वंचित और ज़रूरतमंद लोगों की सेवा, मेरी अपेक्षाएं हैं।
सच्चे मन से लगातार कोशिश करने वाले मरहूम रय शहरी के साथियों तक मेरा शुक्रिया पहुंचा दीजिएगा।
अल्लाह का सलाम और उसकी रहमत हो आप पर।

सैयद अली ख़ामेनेई
27 मार्च 2022

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
3 + 6 =