۶ تیر ۱۴۰۱ |۲۷ ذیقعدهٔ ۱۴۴۳ | Jun 27, 2022
हदीस

हौज़ा/ हज़रत इमाम अली अलैहिस्सलाम ने एक रिवायत में पिता और पुत्र के व्यवहार के परिणामों की ओर इशारा किया हैं।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार , इस रिवायत को "ग़ोररूल हिकमा" पुस्तक से लिया गया है। इस कथन का पाठ इस प्रकार है:

قال امیرالمومنین علیه السلام

بِـرُّوا آباءَكُمْ يَبِـرُّكُمْ أَبْنـاؤُكُمْ؛ آباءَكُمْ يَبِـرُّكُمْ أَبْنـاؤُكُمْ؛ أَبْنـاؤُكُمْ؛؛


हज़रत इमाम अली अलैहिस्सलाम ने फरमाया:


अपने माता पिता के साथ नेकी से पेश आओ ताकि तुम्हारी औलाद भी तुमसे नेकी और अच्छे व्यवहार से पेश आए
ग़ोररूल हिकमा,भाग 3,पेंज 267

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
6 + 6 =