۲۵ مرداد ۱۴۰۱ |۱۸ محرم ۱۴۴۴ | Aug 16, 2022
हाफिज़

हौज़ा/मुंबई के मलाड में एक दीनी मदरसा जामिया ताज़वीदुल कुरआन और नूर मेहर उर्दू स्कूल ने पिछले एक दशक से 97 हाफिज पैदा किए हैं और साथ ही दिनी मदरसे के विद्यार्थियों ने SSC परीक्षा में बड़ी कामयाबी हासिल की हैं।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार ,मुंबई के मलाड में एक दीनी मदरसा जामिया ताज़वीदुल कुरआन और नूर मेहर उर्दू स्कूल ने पिछले एक दशक से 97 हाफिज पैदा किए हैं और साथ ही दिनी मदरसे के विद्यार्थियों ने SSC परीक्षा में बड़ी कामयाबी हासिल की हैं।
मुंबई के मलाड के मदरसे में पढ़ने वाले अबू तल्हा अंसारी खुश हैं क्योंकि उन्होंने सीनियर सेकेंडरी सर्टिफिकेट (एसएससी) की परीक्षा में 83.4 फीसद अंक हासिल किए हैं. एसएससी परीक्षा के नतीजे शुक्रवार को आए हैं. पर अंसारी की खुशी दोहरी है क्योंकि इसके साथ ही उनका हाफिज का पाठ्यक्रम यानी पूरा कुरआन हिफज़ हो गया हैं।

अंसारी वह मालवानी (मलाड) स्थित जामिया ताजवीदुल कुरआन मदरसा और नूर मेहर उर्दू स्कूल के 22 हाफ़िज़ का बहुवचन या हाफ़िज़ में से एक हैं, जिन्होंने इस साल एसएससी परीक्षा पास की है।

अंग्रेजी अखबार द टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित एक खबर में स्कूल-मदरसा के संस्थापक सैयय्द अलीक कहते हैं,इस साल एसएससी परीक्षा देने वाले 22 हफ़्ज़ि में से 14 ने डिस्टिंक्शन के साथ पास किया जबकि आठ ने 60% से अधिक अंक प्राप्त किए हैं।हमें खुशी है कि हमारे छात्रों ने इतना अच्छा प्रदर्शन किया है।

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
9 + 2 =