۲۸ مرداد ۱۴۰۱ |۲۱ محرم ۱۴۴۴ | Aug 19, 2022
وحیدی

हौज़ा/इमामें जुमआ मेलबर्न हुज्जतुल इस्लाम वल मुस्लिमीन अशफाक वहीदी ने कहां युवा पीढ़ी को शिक्षा से जोड़कर समाज से गरीबी को मिटाया जा सकता हैं।

हौज़ा न्यूज़ एजेंसी के अनुसार ,इमामें जुमआ मेलबर्न हुज्जतुल इस्लाम वल मुस्लिमीन अशफाक वहीदी ने जुमआ के खुत्बे में कहां,युवा पीढ़ी को शिक्षा से जोड़कर समाज से गरीबी को मिटाया जा सकता हैं।


हज़रत रसूल अल्लाह ने उम्मत को शिक्षा को हासिल करने का पैगाम दिया है इसी तरह अहलेबैत अलैहिस्सलाम के रिवायत से जो हमें पैगाम मिलता है,शिक्षा का हासिल करना और दूसरों तक पहुंचाना


उन्होंने आगे कहा: हज़रत अली (अ.स.) के बारे में, हज़रत मुहम्मद मुस्तफा (स.ल.व.व.) ने कहा: मैं इल्म का शहर हूं और अली इसका दरवाज़ा हैं इस रिवायत से स्पष्ट है कि अल्लाह और उसके रसूल (स.ल.व.व.) और अहले बैत (अ.स.) की निकटता केवल ज्ञान के माध्यम से प्राप्त की जा सकती हैं।


हुज्जतुल इस्लाम वल मुस्लिमीन अशफाक वहीदी ने कहां,कोई भी समाज तब तक विकसित नहीं हो सकता जब तक कि उसके युवा ज्ञान से परिचित न हों। मेलबर्न के इमामें जुमआ ने कहा: मुस्लिम युवाओं को ज्ञान से दूर रखने और उनके भविष्य पर हमला करने के लिए हर उम्र के अत्याचारी शक्तियों ने तरह-तरह के हथकंडे अपनाए हैं, जिससे युवाओं में गरीबी, बेरोजगारी और आत्महत्या पर मजबूर किया जाए

لیبلز

تبصرہ ارسال

You are replying to: .
3 + 4 =